पड़ोसी की बेटी पूजा को चुदाई की

हेलो, मेरा नाम सॅंडी है और मैं हरयाणा का रहने वाला हू. यह मेरी पहली स्टोरी है अगर कुछ ग़लती हो तो माफ़ करना,अगर स्टोरी अछी लगे तो फीडबॅक जरूर देना(लॅडीस जरूर मैल क्रे) पहले मैं आपको अपने बारे मे बता दू मैं एक 24 साल का हॅंडसम और स्मार्ट लड़का हू. मैं इंजिनियरिंग फाइनल ईयर का स्टूडेंट हू.मेरी हाइट 5″ 8 है और मेरे लंड का साइज़ 6 इंच है.अब मैं आपको ज़्यादा इंतज़ार ना क्रा के सीधा स्टोरी प्र आता हू .ये कहानी हमारे पड़ोसी की लड़की की है जो रिश्ते मे मेरी भतीजी लगती है.उसका नाम पूजा (चेंज्ड नेम) है. तो जैसा की मैने बताया हमारे घर के पास मे एक और फॅमिली रहती है जिसमे 5 लोग है. भैया जिनकी उमर 40 के करीब है,उनकी वाइफ ,भैया की मा और उनके 2 बच्चे 1 लड़का और 1 लड़की . भैया की बेटी की उमर 18 साल है और वो बहुत खूबसूरत है .जैसा की आप सब जानते ही है जब लड़की 18 की उमर मे आती है तो उसकी फिगर ही कमाल की हो जाती है,ऐसा ही कुछ पूजा के साथ भी था पहले जब वो छोटी थी तब वो बिल्कुल पतली थी और कुछ ख़ास नही थी.

पर जब उसने अपनी जवानी मे कदम रखा तो उसका रंग रूप ही बदल गया ,उसकी चुचिया उभर के सामने आ गई और उसके चूतड़ भी बड़े हो गये, पहले मैं उसकी तरफ कोई ध्यान नही देता था, फिर एक दिन जब हम गर्मियो मे छत प्र सो रहे थे तो रात को मैं पेशाब करने के लिए उठा और दीवार के पास नाली मे सूसू करने लगा जब मैं वापिस जाने लगा तो मेरा ध्यान पूजा के घर की तरफ गया जोकि हमारे बाजू मे ही है,मैने देखा की पूजा भी सूसू करने के लिए उठी हुई है उसके घर की लाइट जल रही थी इसलिए मैं उसे सॉफ देख सकता था प्र वो मुझे नही देख सकती थी क्यूकी मेरे यहा की लाइट बंद थी ,जब पूजा ने सूसू क्रना शुरू किया तो मैं वही खड़ा देख रहा था और उसे सूसू क्रता देख मेरा दिमाग़ घूम गया,मैं पहली बार किसी लड़की को ऐसी सिचुयेशन मे देख रहा था मेरा लंड ये सब देख क्र पूरा खड़ा हो गया और मैं वही खड़ा होक्र सब देखते हुए लंड हिलाने लगा ,उस दिन मैने पहली बार पूजा पर ध्यान दिया उसकी चुत पर झांट आ चुके थे और उसके चूतड़ भी काफ़ी बड़े हो गये थे ,पूजा अब पेशाब क्र रही थी तो उसकी चुत से सू सू की बड़ी प्यारी आवाज़ आ रही थी जो की रात के सन्नाटे मे सॉफ सुनाई दे रही थी,मेरे लंड का ये सब देख कर बुरा हाल था.

मैं अपने लंड को ज़ोर ज़ोर से हिलाने लगा, जब पूजा सूसू कर के उठी तो उसने अपनी सलवार उपर नही की और वही खड़ी हो कर अपनी चुत प्र हाथ फेर क्र सॉफ करने लगी और फिर अछी तरह सॉफ क्र के सलवार उपर कर के वापिस सोने चली गई,प्र मैं अभी भी वही प्र खड़ा अपने लंड को हिला रहा था,मैं आँखे बंद करके पूजा को इमॅजिन क्र के लंड हिला रहा था,5 मिनट. के बाद मेरा पानी निकल गया फिर मैं अपने बिस्तर प्र आकर लेट गया पर अब मुझे नींद नही आ रही थी मेरे दिमाग़ मे सिर्फ़ पूजा ही घूम रही थी,उस रात मैं ठीक से सो नही सका सिर्फ़ उसकी चुत और गॅंड के बारे मे सोचता रहा, अगले दिन से मैं उसे गोर से देखने लगा और उस पर फिदा हो गया जब वो चलती थी तो उसकी गॅंड बहुत मटकती थी और मेरा बुरा हाल हो जाता था, मैने उसी दिन सोच लिया की मैं पूजा को जरूर पटा कर बहुत ज़ोर से चोदुन्गा, पर उस टाइम मैं बहुत शाइ टाइप का लड़का था लड़कियों से बात करने मे मेरी बहुत फट-ती थी इसलिए काफ़ी दिन कुछ नही हो सका ,फिर मुझे लगा की ऐसे तो कुछ नही हो पाएगा थोड़ी तो हिम्मत क्रणी ही पड़ेगी,अगले दिन से मैं उनके घर के बहुत ज़्यादा चक्कर लगाने लगा,मैं किसी ना किसी बहाने से उसके पास जाने की उसे टच करने की कोशिश करता, उस से नज़रे मिलाने की कोशिश करता और अगर नज़रे मिल जाती तो एक नॉटी स्माइल कर देता,धीरे धीरे उसने भी ये सब नोटीस करना शुरू कर दिया.

एक दिन जब वो अपने घर पे बैठ के अपनी पढ़ाई का काम कर रही थी ,वो जिस रूम मे बैठी थी वो गली के बिल्कुल पास था और वो दरवाजे के पास चेर पर बैठी थी तब मैं उसके घर के सामने से जा रहा था तब उसने मेरी तरफ देखा मैने भी हिम्मत कर के उसे आँख मार दी(विंक) और आगे निकल गया ,उसने कुछ नही कहा मुझे लगा उसने ध्यान नही दिया फिर मैने अगले दिन भी ऐसा ही किया आज उसने भी एक नॉटी स्माइल कर दी ,मैं समझ गया की वो भी मुझे लाइक क्रती है,फिर मैं बस मौके की तलाश मे था की कब वो मुझे अकेले मे मिले और मैं उसे अपने दिल की बात क्रू,एक दिन वो मौका भी मिल ही गया उसके मम्मी पापा किसी शादी मे गये थे और उसका भाई स्कूल गया था ,उसकी दादी घर के अंदर कमरे मे सो रही थी,मैं किसी बहाने से उसके घर चला गया और मौका देख कर उससे बोल “पूजा मुझे तुमसे कुछ जरूरी बात करनी है ” उसने कहा की बोलो,मैने उसे कहा की मैं तुम्हे बहुत लाइक करता हू ,क्या तुम मेरी जीएफ़ बनोंगी ,वो शर्मा गई और अंदर जाने लगी मैं भी उसके पीछे पीछे कमरे मे आ गया और उससे फिर पूछा तब वो बोली की वो भी मुझे बहुत लाइक क्रती है तब मैने उसका हाथ पकड़ कर अपनी तरफ खींच लिया और अपनी बाहों मे भर लिया वो भी मुझ से लिपट गई, हम थोड़ी देर ऐसे ही रहे फिर मैं उसे किस करने लगा प्र वो बोली की कोई आ जाएगा अभी नही पर मैं नही माना और उसे पकड़ कर उसके होंठो (लिप्स) प्र जोरदार किस कर दिया, हम काफ़ी देर ऐसे ही किस करते रहे ,उस दिन के बाद हमे जब भी मौका मिलता हम एक दूसरे को किस करते पर इस से आगे बढ़ने का मौका नही मिल पता था.

फिर एक दिन वो मौका भी मिल ही गया ,पूजा के घर वाले बाहर गाओं किसी फंक्षन मे गये हुए थे पर वो नही गई और घर मे सिर्फ़ वो ही थी,उस रात को जब मेरे घर वाले सो गये तब मैं चुपके से उसके घर मे घुस गया,उसने दरवाजा पहले से ही खुला छोड़ रखा था क्यूकी उसे पहले से प्लॅन का पता था,फिर उसे देखते ही मैं उस पर टूट पड़ा ,आज किसी के आने का कोई डर नही था इसलिए वो भी मेरा खुल के साथ दे रही थी,हम एक दूसरे से लिपटे हुए फ्रेंच किस कर रहे थे,मैं उसके होंठो(लिप्स) को ऐसे चूस रहा था जैसे आज बस उसे खा ही जौंगा,वो भी पूरी तरह से गरम हो चुकी थी और पूरा रेस्पॉन्स दे रही थी,फिर मैने उसका कुर्ता उतार दिया उसने नीचे काले रंग की ब्रा पहन रखी थी जिसमे उसकी मस्त मस्त गोरी चुचिया कयामत लग रही थी,फिर मैने उसकी ब्रा भी निकाल दी और उसकी चुचियो को भी आज़ाद कर दिया और उन्हे बुरी तरह से दबाने और चूसने लगा पूजा अब पूरी तरह से मदहोश हो क्र मोन क्र रही थी और मेरा सिर पकड़ क्र अपनी चुचियो पर दबा रही थी,5 मिनिट्स चूसाई के बाद मैने उसकी सलवार भी उतार दी, अब वो सिर्फ़ पैंटी मे ही मेरे सामने खड़ी थी और किसी परी से कम नही लग रही थी, मैने जब उसकी पैंटी के उपर से उसकी चुत को सहलाया तो उसकी पूरी बॉडी मे जैसे करेंट सा लग गया वो सिमट क्र दोहरी हुई जा रही थी फिर मैने उसकी पैंटी को भी निकाल दिया अब उसकी कुवारि और चिकनी चुत मेरे सामने थी ,उसने आज ही झाँटे सॉफ की थी इसलिए उसकी चुत एकदम सॉफ और चिकनी हो गई थी,मैने उसकी चुत को सहलाना शुरू कर दिया वो ज़ोर ज़ोर से आहें(मोन) भरने लगी.

ये हम दोनो का पहला सेक्स था पर मैं पॉर्न मूवीस और डीके की कहानिया पढ़ कर इतना सब कुछ तो जान ही चुका था की कैसे क्या करना होता है. तो फिर मैने उसके पूरे बदन को चूमना चाटना शुरू क्र दिया और चूमते चूमते चुत पर आ कर रुक गया उसकी चुत से अजीब सी खुशबू आ रही थी जो की मुझे मदहोश कर रही थी फिर मैने धीरे धीरे उसकी चुत को चाटना शुरू क्र दिया उसकी चुत पहले से ही बहुत गीली हो चुकी थी जोकि अब मेरे चाटने से और भी चिकनी हो गई थी वो बुरी तरह से तड़प रही थी चुदाई के लिए 5 मिनट चुत चाटने के बाद मैं रुक गया और अपने भी सारे कपड़े उतार कर फेक दिए मेरा लंड जोकि शुरू से ही खड़ा था अब और ज़्यादा तन गया था और फूल भी गया था जैसे की अभी फट जाएगा, मैने अब उसे लंड चूसने के लिए बोला तो वो मना करने लगी और बोली उसे बहुत गंदा लगता है पर फिर मैने उसे कसम दे कर किसी तरह से मना लिया वो धीरे धीरे मेरे लंड को अपने मूह के अंदर बाहर करने लगी अब उसे भी मज़ा आने लगा था,धीरे धीरे उसने स्पीड बढ़ा दी और ज़ोर ज़ोर से मेरे लंड को अपने मूह मे लेने लगी और टोपे पर ज़ीभ फिराने लगी उसकी इस अदा से मैं बहुत एग्ज़ाइटेड हो गया था मेरा लंड बस फटने को हो गया था ,जैसा की आप सब जानते है की फर्स्ट टाइम मे इतना कंट्रोल नही रहता इसलिए मेरा पानी भी जल्दी ही छुट गया उसके मूह के अंदर इसने उसे पी लिया और लंड को जीभ से चाट कर सॉफ क्र दिया, अब हम फिर एक दूसरे को किस करने लगे 5 मिनिट्स के बाद हम 69 पोज़िशन मे आ गये और मैं उसकी चुत चाटने लगा और वो मेरा लंड चूसने लगी.

मेरे लंड मे फिर से जान आ गई और लंड फिर खड़ा हो गया थोड़ी देर बाद हम सीधे हुए मैने उसे बेड पर लेटा दिया और उसकी गॅंड के नीचे तकिया लगा दिया ताकि उसकी चुत का छेद अछी पोज़िशन मे आ जाए अब मैने अपना 6″ का लंड उसकी चुत के मूह पर टीका लिया और हल्के हल्के रगड़ने लगा वो बुरी तरह से तड़प रही थी मैने धीरे धीरे लंड पर दबाव(प्रेशर) देना शुरू किया पर उसकी चुत बहुत टाइट थी लंड का सुपरा ही अंदर जा सका अब उसे दर्द भी होना शुरू हो गया था फिर मैने देर ना करते हुए एक ज़ोर का झटका मारा और लंड उसकी सील तोड़ता हुआ आधा अंदर घुस गया उसकी चीख निकल गई और वो रोने लगी मैने उसे किस करना शुरू क्र दिया और उसे समझाने लगा की बस एक बार ही दर्द होता है और अब मज़े ही मज़े है ,मैने उसी पोज़िशन मे धीरे धीरे लंड को आगे पीछे करना शुरू कर दिया अब उसे दर्द भी कम हो रहा था और वो भी मज़े लेने लगी फिर मैने ज़ोर ज़ोर से झटके लगा कर पूरा 6″ का लंड उसकी चुत के अंदर तक घुसा दिया अब वो भी नीचे से गॅंड उठा कर मेरा साथ दे रही थी और हम एक दूसरे को किस क्र रहे थे 15 मिनिट्स की चुदाई के बाद मैने अपना पानी उसकी चुत के अंदर ही छोड़ दिया और हम एक दूसरे से लिपट कर लेटे रहे.

थोड़ी देर बाद जब हम उठे तो देखा की बेडशीट पर उसका खून लगा हुआ था और उस से अब ठीक से चला भी नही जा रहा था फिर मैं उसे पेनकिलर की गोली दी और उसे उठा कर बाथरूम ले गया और उसकी चुत की सफाई की और फिर से बेड पर आ गये, उस रात हमने 3 बार चुदाई की और सुबह होने से पहले मैं घर वापिस आ कर सो गया,अगले दिन मौका देख कर मैने उसे एक आई-पिल की गोली भी दे दी ताकि वो प्रेग्नेंट ना हो,तब से जब भी हमे मौका मिलता है हम जम कर चुदाई करते है. तो दोस्तो ये थी मेरी कहानी,आप को कैसी लगी फीडबॅक जरूर दीजिएगा, मेरी मैल आईडी है कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट्स मे ज़रूर लिखे, ताकि हम आपके लिए रोज़ और बेहतर कामुक कहानियाँ पेश कर सके