मनीषा को पटा के चोदा

मेरा नेम राहुल (नेम चेंज) मेरी हाइट 5.8 इंच है मैं यूपी गोरखपुर का रहने वाला हू अपनी बी.टेक की पढ़ाई पुणे से कर रहा हू मैं ज्यदा सुंदर तो नही हू पर ज्यदा खराब भी दिकने वाला नही हू मीडियम हू मेरा बॉडी ठीक ठाक ही हैं और मेरे लंड का साइज़ 6 इंच लंबा 2 इंच मोटा इतना किसी भी भाभी या लड़की को खुश करने के लिए काफ़ी हैं. अगर किसी भी लड़की या भाभी को मुझसे कॉंटॅक्ट करना हो या फीडबॅक देना हो तो अब आप लोगो को ज़्यादा बोर ना करते हुए सीधे स्टोरी पे आता हू.

बात आज से 2 मंथ पहले की है जब मैं अपने घर घूमने गया था मेरे घर के बगल मे एक फॅमिली रहती थी उस फॅमिली मे 4 लोग रहते थे मा पापा और 1 बेटा (15) और बेटी मनीषा (18) दिखाने मे सावली पर फसेकूट बहुत बढ़िया था जिससे बहुत अछी लगती थी और उसका फिगर 28,30,32(उसने ही बताया था ) वो अभी 1स्ट ईयर मे है उसे देखते ही मैने सोच लिया था की उसे पटा के चोदना हैं एक दिन मैं अपने छत पे पढ़ रहा था तो वो अपने छत पे आई तो मेरा ध्यान उस पे नही था मैं पढ़ रहा था पर वो मुझे देख रही थी थोड़े देर बाद जब मेरा ध्यान उसपे गया तो वो मुझे ही देख रही थी फिर वो चली गई तब मुझे लगा की इसे पटाने मे ज़्यादा परेशानी नही होगी तो कुछ दिन ऐसे ही चलता रहा फिर मैं उससे बात करने का सोचता पर बात हो नही पता था लेकिन एक दिन वो मार्केट गई तो मैं उसके पीछे पीछे चल दिया थोड़े दूर जाने पर मैने उससे पूछा की तुम मूज़े इतना क्यो देखती हो तो वो कुछ नही बोली और स्माइल देकर आगे चली गई जिससे मेरा हिम्म्त और बढ़ गया और मैं उससे जाके फिर से पूछा की तुम मुझे क्यो देखती हो .

मानी:- तुम भी तो मुझे देखते हो

मैं :- मैं कुछ नही बोला

मानी:- बोलो

मैं :(मुझे लगा मौका हैं बोल देता हू) क्योकि तुम मुझे अची लगती हो इसी लिए

मानी:- मुझे भी तुम आचे लगते हो इसी लिए तो हम बाते करते हुए मार्केट गये और घर आते वक़्त हमने नंबर एक्सचेंज किया फिर रात को उसका मेसेज आया

मानी :- क्या कर रहे हो

मैं :- कुछ नही बस तुम्हे याद कर रहा था

मानी :- क्यो

ऐसेही फिर कुछ दिन ऐसे ही च्याटिंग चलता रहा फिर हम सेक्स के बारे मे च्याटिंग करने लगे धीरे धीरे हम एक दूसरे से खुल कर बाते करने लगे तो फिर मैने उसे मिलने को बोला तो उसने कहा अभी कोई देख लेगा तो ,मैने बोला कोई नही देकेगा बहुत समझाने के बाद वो मान गई फिर रात को 12 बजे मिलने का प्लॅन बनाया हमने फिर मैं रात का बेसब्री से इंतेजार करने लगा और जाके मेडिकल से कॉंडम खरीदा और वापस आ गया आख़िर रात हो गई मैं बहुत खुश था क्योकि आज मेरा सपना पूरा होने वाला था तो रात को उसका मिस कॉल आया तो मैने कॉल किया और फिर उसने अपने घर का दरवाजा खोला फिर मैं अपने घर से निकल के सीधे उसके घर मे चला गया और उसके रूम मे गया वाहा जाके मैने जो देखा वो देखता ही रह गया यार वो क्या माल लग रही थी ब्लू नाइटी मे मैं तुरन्त रूम का दरवाजा बंद किया और उसको अपने बाहो मे भर लिया फिर किस करने लगा वो भी मेरा पूरा सपोर्ट कर रही थी फिर मैने उसका नाइटी उतार दिया यार क्या माल लग रही थी ब्रा और पैंटी मे एकदम स्वर्ग की अप्सरा लग रही थी मैं उसके उपर टूट पड़ा और उसे पागलो की तरह किस कर रहा था.

वो भी मुझे किस कर रही थी उसने मेरा सारा कपड़ा उतार दिया अब मैं भी अंडरवेर मे आगया था मेरा लंड अंदर तंबू बनके खड़ा था तो उसने बोला बाबू सहाब बाहर आने को बेताब हैं मैने बोला तो बाबू साहेब को आज़ाद कर दो उसने मेरे लंड को बाहर निकाला और उस पर टूट पड़ी और लंड को चूसने लगी एकदम एक पोर्न्स्टार की तरह फिर मैने उसका ब्रा और पैंटी उतार दिया वो मेरे लंड को हात से पकड़ के खेल रही थी मैं उसके बूब्स चूस रहा था फिर धीरे धीरे मैं नीचे गया और उसके बुर को चूसने लगा उसका बूर पहले से ही गीला हो चुका था फिर मैं उसके बुर को चूसने लगा थोड़े देर मे उसका शरीर अकड़ने लगा मैं समझ गया उसका होने वाला हैं और मैने अपना सिर हटा लिया क्यो की मूज़े पानी पीना अछा नही लगता फिर वो मेरा लंड चूसने लगी और थोड़े देर के बाद मैं झड़ने वाला था तो मैने बोला मेरा निकलेने वाला हैं तो उसने मूह मे ही बोला झड़ने दो और मैं उसके मूह मे अपना पूरा माल छोड़ दिया.

वो पूरा माल पी गई मैं उसके उपर गिर गया फिर 5 मिनट बाद वो मेरे उपर आई और किस करने लगी थोड़े देर बाद मेरा लंड फिरसे तैइय्यार हो गया फिर मैने ज़्यादा टाइम वेस्ट ना करते हुए अपना लंड उसके बूर पे रगड़ने लगा वो तड़पने लगी और माओनिंग करने लगी फिर मैने लंड पे कॉन्डम लगाया और लंड को उसके बूर मे सेट किया और 1 झटके मे आधा लंड ही अंदर गया और वो चीख पड़ी (वो वर्जिन नही थी वो पहले भी चुद चुकी थी एक लड़के से जो उसका 9 थ मे बाय्फ्रेंड था और चुदाई कर के छोड़ चुका था) पर मैं उसे किस कर रहा था तो आवाज़ बाहर नही निकला फिर एक और जोरदार झटका मारा और पूरा लंड अंदर चला गया मैं थोड़े देर रुका फिर धीरे धीरे शॉट मारने लगा फिर वो भी गॅंड हिला हिला के मेरा साथ देने लगी और मैं अपना रफ़्तार बढ़ा दिया और उसको चोदता रहा कुछ समय बाद उसका शरीर फिर अकड़ने लगा मैं समझ गया झड़ने वाली हैं औ मैं शॉट और तेज मारने लगा और वो झड़ गई.

थोड़ी देर बाद मैं भी झड़ गया रात मे 4 बजेतक उसके साथ था और उसको 3 बार . था फिर मैं अपने घर आगया और अब जब भी मौका मिलता हैं मैं उसको चोदत हू अगर किसी लड़की या भाभी को मेरा स्टोरी पसंद आया हो तो मुझे फीडबॅक ज़रूर बेझे मेरी मैल आईडी है कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट्स मे ज़रूर लिखे, ताकि हम आपके लिए रोज़ और बेहतर कामुक कहानियाँ पेश कर सके